Prime Minister Modi inaugurates key power projects in Kerala

Spread the love



प्रधानमंत्री मोदी ने 19 फरवरी, 2021 को केरल में शाम 4.30 बजे बिजली और शहरी क्षेत्र की प्रमुख परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया.

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन भी, आवास एवं शहरी मामले, बिजली तथा नई एवं नवीकरणीय ऊर्जा के केंद्रीय राज्य मंत्रियों के साथ इस उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान मौजूद थे.

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए विश्वभारती के दीक्षांत समारोह को भी संबोधित किया. इस कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल और विश्व भारती के रेक्टर जगदीप धनखड़ भी उपस्थित थे.

त्रिशूर (केरल) विद्युत पारेषण परियोजना: 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु) का शुभारंभ

• यह परियोजना एक वोल्टेज स्रोत कनवर्टर है जो हाई वोल्टेज डायरेक्ट करंट – HVDC परियोजना पर आधारित है. इसमें देश का पहला HVDC लिंक भी है, जिसमें अत्याधुनिक VSC तकनीक का इस्तेमाल किया गया है.
• इस परियोजना का निर्माण 5,070 करोड़ रूपये की लागत से विद्युत किया गया है. यह पश्चिमी क्षेत्र से 2000 मेगावाट की बिजली के हस्तांतरण में सुगमता लायेगा और केरल के नागरिकों के लिए लोड वृद्धि की जरूरत को पूरा करने में मदद करेगा.
• प्रधानमंत्रीओ के अनुसार, VSC-आधारित प्रणाली में ओवरहेड लाइनों के साथ HVDC-XLPE केबल के एकीकरण की सुविधा है, जो मार्ग स्थान को भी बचाता है और पारंपरिक HVDC प्रणाली की तुलना में इस प्रणाली में 35-40% कम भूमि और लाइन का इस्तेमाल हुआ है.

50 मेगावाट कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना का शुभारंभ

• प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहत विकसित की गई इस बिजली परियोजना को राष्ट्र को समर्पित किया.
• यह परियोजना 250 एकड़ से अधिक भूमि पर स्थापित की गई है जो केरल के कासरगोड जिले के मीनाजा, पाइवलिक और चिप्पार गांवों में फैली हुई है.
• केंद्र सरकार द्वारा यह परियोजना लगभग 280 करोड़ रुपये के निवेश के साथ बनाई गई है.

प्रधानमंत्री ने तिरुवनंतपुरम में विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखी

• तिरुवनंतपुरम में 94 करोड़ रुपये की लागत से एक एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र बनाया जाएगा.
• स्मार्ट रोड परियोजनाएं 427 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर शुरू की जाएंगी. इसका उद्देश्य तिरुवनंतपुरम में मौजूदा सड़कों के 37 किमी को विश्व स्तरीय स्मार्ट सड़कों में परिवर्तित करना है. 
• प्रधानमंत्री मोदी ने अरुविकारा में 750 MLD जल शोधन संयंत्र का उद्घाटन भी किया. इसे AMRUT मिशन के तहत बनाया जाएगा.




Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top